Blog & Articles

आप अपना पहला क़दम कब चल रहे हैं ?

अपना पहला क़दम आदमी दो बार चलता है । एक बार छोटे पर जब माँ बाप सहारा देकर हमें चलाते हैं । दूसरा पहला क़दम हम तब चलते हैं जब हमें पता चल जाता है…

Read More

Hindi Is Cool !

जब कभी ध्यान से अपने-आपको शीशे में देखता हूँ तो अब भी सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले उस लड़के का अक्स साफ नज़र आता है, जो खाकी पैंट और सफ़ेद शर्ट पहनकर शहर भर में…

Read More

Storybaazi – New Year Resolution

आपकी कांटैक्ट लिस्ट में कुछ लोग होते हैं न जिनसे साल भर कोई बात न हुई हो लेकिन नया साल आया नहीं और उनके मैसेज आना शुरू। कोई त्योहार नहीं छोड़ते ये लोग। हर साल…

Read More

संडे वाली चिट्ठी 22 – प्रिय बेटी

प्रिय बेटी, तुम्हें चिट्ठी लिखते हुए एक अजीब सी घबराहट हो रही है। लग रहा है तुमसे पहली बार कोई बात करने जा रहा हूँ। नहीं नहीं इसलिए नहीं कि मेरे पास लिखने के लिए…

Read More

संडे वाली चिट्ठी 21 – दुनिया के नाम एक चिट्ठी

दुनिया के नाम एक चिट्ठी … जब ये चिट्ठी तुम्हें मिलेगी तब तक शायद मैं न रहूँ। कम से कम मैं वैसा तो नहीं रहूँगा जैसा अभी इस वक़्त हूँ। बहुत दिनों से मैं कोई…

Read More

संडे वाली चिट्ठी 20 – तुम न dear लिखो न dearest

तुम न dear लिखो न dearest, कुछ मत लिखो। चिट्ठी लिखते लिखते इतना बह क्यूँ जाते हो फालतू में इतनी फिलोसफी झाड़ने लगते हो। सीधे सीधे सब कुछ साफ साफ नहीं लिख सकते। अच्छा तुम्हारी…

Read More

संडे वाली चिट्ठी 19 – चिट्ठियाँ लिखने के फ़ायदे

चिट्ठियाँ लिखने का एक फ़ायदा ये है कि आपको लौट कर बहुत सी चिट्ठियाँ वापिस मिल जाती हैं। इधर एक चिट्ठी ऐसी आई जिसमें किसी ने मुझसे पूछा कि मान लीजिये आज आपका इस दुनिया…

Read More

संडे वाली चिट्ठी 18 – कोटा में IIT की तैयारी कर रहे सैकड़ों लड़के-लड़कियों के नाम

यार सुनो, माना तुम लोग अपने माँ बाप की नज़र में दुनिया का सबसे बड़ा काम कर रहे हो। माना तुम लोग जब रोज़ कोचिंग के लिए जाते हो तो दूर बैठे तुम्हारे माँ बाप…

Read More

संडे वाली चिट्ठी 17 – उन सभी लड़कियों के नाम जो पहले नहीं मिलीं!

उन सभी लड़कियों के नाम जो पहले नहीं मिलीं! ज़िंदगी से यूं भी तमाम शिकायतें हैं मुझे. लेकिन उन तमाम शिकवों में से एक ये भी है कि ज़िंदगी मुझे तुमसे पहले नहीं मिलवा सकती…

Read More