Blog & Articles

संडे वाली चिट्ठी 6 – तुम्हें dear लिखूँ या dearest ?

तुम्हें dear लिखूँ या dearest, ये सोचते हुए लेटर पैड के चार कागज़ और रात के 2 घंटे शहीद हो चुके हैं। तुम्हारी पिछली चिट्ठी का जवाब अभी तक नहीं मिला तो सोचा कि पिछले…

Read More

संडे वाली चिट्ठी 5- डियर अमिताभ !

पिछले हफ्ते पहली किताब( टर्म्स एंड कंडिशन्स अप्लाई) आए हुए तीन साल पूरे हुए। तीन साल पहले ये चिट्ठी सही में लिख कर अमिताभ बच्च्न को पोस्ट की थी। हाँ कभी जवाब नहीं आया बल्कि…

Read More

संडे वाली चिट्ठी 4- 12 पास हो गए तुम !

सुनो यार, 12th तो पास हो गए यार तुम! तुम्हारे बहुत से दोस्तों ने या तो इंजीन्यरिंग या मेडिकल की तैयारी शुरू कर दी होगी। और तुम, हाँ तुमसे ही बात कर रहा हूँ ।…

Read More

संडे वाली चिट्ठी 3- डियर पापाजी

Dear पापा जी, कुछ दिन पहले आपकी चिट्ठी मिली थी। आपकी चिट्ठी मैं केवल एक बार पढ़ पाया। एक बार के बाद कई बार मन किया कि पढ़ूँ लेकिन हिम्मत नहीं हुई। मैंने आपकी चिट्ठी…

Read More

संडे वाली चिट्ठी 2- Dear XYZ

Dear ‘X’YZ, मैं यहाँ ठीक से हूँ । बाक़ी सब भी ठीक से है । तुम कैसी हो। बाक़ी सब कैसा है। बाक़ी सब में कितना कुछ समा जाता है न, मौसम, तबीयत, नुक्कड़, शहर,…

Read More

संडे वाली चिट्ठी 1- dear J

डियर J, मुझे ये बिलकुल सही से पता है कि मैं अपने हर रिश्ते से चाहता क्या हूँ। मुझे क्या हम सभी को शायद ये बात हमेशा से सही से पता होती है। एक बना…

Read More

How To Get Published (Hindi)

देखिये वैसे हिन्दी में छपना कोई बड़ी बात नहीं है। दिक्कत बस एक ही है कि बहुत से publisher author funded किताबें छापते हैं और छाप कर आपको दे देते हैं । किताब को बेचने…

Read More

Hindi is Cool Yaar! TedX Talk – Divya Prakash Dubey

देवियों और भाइयों, आज से पाँच- साढ़े पाँच साल पहले मैं एमबीए कॉलेज में पाया जाता था। एमबीए में इतनी presentations होती हैं कि कई बार आपको ये डाउट होता है कि कहीं आप masters…

Read More